योगी जी से जुडी १० बातें जो शायद आप नहीं जानते होंगे !

योगी जी से जुडी १० बातें जो शायद आप नहीं जानते होंगे !
5 (100%) 1 vote

योगी आदित्य नाथ आज उत्तर प्रदेश में मुख्य मंत्री हैं. इनका जीवन काल भी बहुत रहश्यों से भरा है. बचपन से लेकर सन्यास ग्रहण और संसदीय राजनीति तक इन्होने जीवन को बड़े कठोर अनुशाशन के साथ जिया है. आइये जानते हैं योगी जी से जुडी १० बातें जो आपमें से बहुत लोग शायद नहीं जानते होंगे.

10 things that you might not know about Yogi ji

  • योगी आदित्य नाथ का वास्तविक नाम अजय सिंह विष्ट है. इनकी जन्मस्थली उत्तराखंड की पवित्र देव भूमि है . ५ जून १९७२ को इनका जन्म गढ़वाली परिवार में हुआ था . इनके पिता का नाम आनंद सिंह विष्ट है . सन १९९४ में ये सन्यासी बन गए और इनका नाम बदलकर योगी आदित्य नाथ हो गया . इनकी उच्चतम शिक्षा -> गणित विषय से स्नातक की डिग्री.
  • इन्हें सबसे कम उम्र का सांसद बनने का गौरव प्राप्त है. १९९८ में मात्र २६ साल की अवस्था में इन्होने सांसद का कार्यभार संभाला था . तब से अबतक लगातार ५ बार ये गोरखपुर से सांसद का चुनाव जीत चुके हैं.
  • आदित्य नाथ को गोरखनाथ पीठ के प्रमुख महंत श्री अवैद्य नाथ ने अपना उतराधिकारी बनाया था. अपने गुरु के निधन के बाद सितम्बर २०१४ में इन्होने गोरखनाथ पीठ का कार्यभार संभाला था. इन्होने हिन्दू युवा वाहिनी नाम से एक संगठन का निर्माण भी किया है, जो हिन्दुओं के उत्थान के लिए काम करती है .
  • योगी आदित्य नाथ वो व्यक्ति हैं जिन्होंने धर्म परिवर्तन के खिलाफ आन्दोलन किया . इन्होने हिन्दू से इसाई या मुस्लिम बने लोगों के घर वापसी का भी काम किया . आर्थात ऐसे लोग जो किसी प्रलोभन बस hindu धर्म छोड़ चुके थे, उनको फिर से अपने धर्म में लाया गया . कट्टर हिंदुत्व की बात करने के कारण इनके वक्तव्यों की आलोचना भी होती रही है.
  • योगी आदित्य नाथ को घेरने के लिए उनपर कई आपराधिक आरोप भी दर्ज किये गए हैं. २००७ में गोरखपुर में हुए दंगे में योगी आदित्य नाथ भी आरोपी थे.
  • योगी जी अपने संसदीय क्षेत्र के इलाकों के नाम बदलने के लिए भी मशहूर हैं. योगी जी का दावा है की इन इलाकों का नाम नहीं बदला जा रहा है बल्कि घर वापसी हो रही है. मुग़ल काल में जिन इलाकों या कस्बों के नाम बदल दिए गए थे, उन शहरों को पुनः उनकी सांस्कृतिक पहचान दिलाई जा रही है . गोरखपुर में योगी जी ने हिमायूं पुर को हनुमानपुर इस्लामपुर को ईश्वरपुर में परिवर्तित कर दिया है. .
  • गोरखनाथ पीठ से आदित्यनाथ हिन्दुओं के सभी सांस्कृतिक गतिविधियों को नियंत्रित करते हैं. होली दिवाली आदि त्यौहार कब मनानी है इसकी घोषणा योगी आदित्य नाथ स्वयं करते हैं.
  • आज़मगढ़ में 7 सितंबर 2008 को आदित्यनाथ पर घातक आक्रमण हुआ था जो असफल रहा. इस घटना में वो बाल बाल बच गये थे. ये षडयंत्र इतना बड़ा था की आदित्यनाथ के समर्थकों की 100 से ज़्यादा गाड़ियों को आक्रमणकारियों ने घेर लिया था.
  • अपने लम्बे संसदीय कार्यकाल में योगी के कई बार भाजपा से संबंध तनावपूर्ण भी हुए हैं. 2007 के चुनावों में तो वे 100 से अधिक सीटों परअपनी पसंद के उम्मीदवार उतारना चाहते थे. बाद में राष्ट्रीय स्वयं सेवक के दखल के बाद समझौता हुआ.
  • योगी आदित्य नाथ कड़ी दिनचर्या का पालन करते हैं. गौ सेवा और गौ के प्रति इनका प्रेम जग विदित है.

 

loading...